About Hanumat Shakti Peeth

ॐ श्री हनुमत शक्ति पीठ ट्रस्ट (रजि.) आगरा द्वारा कलयुग के प्रभाव से तथा सभी ग्रहों के दोष निवारण, पितृ दोष निवारण तथ्य भूत प्रेतादि भय निवारण विद्यार्थियों की प्रतियोगिता परीक्षा उत्तीर्ण करने नौकरी पाने तथा मुकदमों में उत्कृष्ट विजय दिलवाने हेतु सिद्ध श्री हनुमत शक्ति पीठ रहनकला यमुना तट आगरा National Highway-2 छलेसर के महावीर ढावा से सीधे रहनकला ग्राम होकर यमुना तट पर स्थापना की गयी | 3 लाख 60 हजार आहुतियों से हुए यज्ञ में श्री पंचमुखी हनुमान जी का विग्रह प्राकट्य होकर सभी को असंभव मनोकामना पूरी कर रहा है | मनोकामना २-४ बार ही रात्रि में हवन करने से पूर्ण हो जाती है मुकदमों में या तो पक्ष में निर्णय होता है या भक्त के फेवर में २-३ महीने में ही समझोता होकर उत्कृष्ट फल मिलता है |

सिद्ध श्री हनुमत शक्ति पीठ यमुना तट रहनकला आगरा स्थापना : हनुमत साधना का एक श्रेष्ठ व उत्तम तीर्थ है जो यमुना किनारे स्थित है जहाँ शुद्ध जल हवा स्वच्क्ष वायु कारण मन को शान्ति प्राप्त होकर साधना में तन मन एकाग्र होने लगता है यहाँ पर रामभक्त हनुमानजी की कृपा बरसती है हनुमत कृपा मूर्ति गुरु जी ने यहाँ एक भव्य मंदिर में पंचमुखी हनुमानजी एकमुखी हनुमानजी की प्रतिमा पूर्ण विधि विधान से प्राण प्रतिष्ठित करवाई है गुरु श्री हनुमत कृपा मूर्ती अपने जन्मकाल से ही हनुमानजी महाराज के उपासना करते रहे | किशोरावस्था से लेकर युवावस्था उन्होंने लगातार आराधना की तथा अपनी पूज्य पिताजी के द्वारा बालाजी मेंहदीपुर के दर्शन पश्चात उन्होंने न केवल बल जी के लिए आये अपितु आगरा में ही बस गए ४० वर्ष की अवस्था में बालाजी महाराज में उन्होंने ४० दिन तक प्रतिदिन १०० पाठ हनुमान चालीसा के लिए जिससे श्री बालाजी महाराज की कृपा से उन्हें हनुमत कवच जप करने का आदेश मिला और उन्होंने १ वर्ष पंचमुखी हनुमत कवच का जप कर गुरु पूर्णिमा के दिन २००३ में हनुमत कवच यज्ञ किया जिसके बाद अलोकिक शक्तियों के दर्शन के साथ उन्हें विशेष कृपा प्राप्त हुयी तथा लोक कल्याण में हनुमत कवच का प्रयोग शुरू हुआ हनुमत कवच के प्रताप से तमाम सम्पूर्ण लोक पीड़ाएँ प्रेत आत्माओां द्वारा दिए जाने वाले कष्ट एक ही दिन में समाप्त हो जाते हैं | सभी ग्रहों के कष्ट दूर होते हैं इससे आम आदमी के जीवन में शांति, विकास तथा खुशहाली का रास्ता खुलता है |

हनुमत कृपा मूर्ति महाराज विक्रांत जी २०१२ में पुनः हनुमत रक्षा कवच महायज्ञ तीन लाख ६० हजार आहुतियों फतेहपुर सीकरी में किया जिससे गुरु जी हनुमत कृपा मूर्ति को बड़ी कृपा प्राप्त हुयी तथा बालाजी महाराज के आदेश से यमुना किनारे रहनकला गाँव के निकट जो राष्ट्रिय राजमार्ग-२ आगरा टूंडला रोड पर छलेसर महावीर ढावा के सामने रेलवे गेट से सीधा ३ किलोमीटर है | २६ फरवरी २०१३ गुरु हनुमत कृपा मूर्ति विक्रांत जी महाराज ने भूमि पूजन किया तथा १३ जुलाई १३ को गुरु पूर्णिमा के अवसर पर मूर्तियों की प्राण प्रतिष्ठा हुयी तथा महाराज श्री पंचमुखी हनुमान व एक मुखी हनुमान जी विराजमान हुए तथा अपनी सम्पूर्ण शक्तियों से जनमानस का भला कर रहे हैं इसी स्थान का नाम सिद्ध श्री हनुमत शक्ति पीठ है तथा इसे ओम श्री हनुमत शक्ति पीठ ट्रस्ट (रजि.) ई-३/१२३१ शहीद नगर आगरा के मैनेजिंग ट्रस्टी श्री हनुमत कृपा मूर्ति विक्रांत जी ने महाराज ने अपने परिवारीजन, रिश्तेदारों, मित्रों एवं श्रद्धालु भक्तों के सहयोग से निर्मित कराया है तथा इसकी स्थापना देख-रेख तथा सञ्चालन व्यवस्था ॐ श्री हनुमत शक्ति पीठ ट्रस्ट (रजि.) कर रहा है जो इंडियन ट्रस्ट एक्ट के तहत पंजीकृत है | जिसके स्थायी ट्रस्टी श्री उमाकांत शर्मा विक्रांत मैनेजिंग ट्रस्टी मनीष शर्मा (गुड़गांव) भुवनेश शर्मा (दिल्ली) अरुण कुमार शर्मा (झज्जर हरियाणा) रामजीत यादव (इलाहाबाद) श्रीमती ममता दिनकर (नॉएडा) हैं | नामित ट्रस्टी- श्री प्रवीण कुमार अग्रवाल श्री अभय कुमार सिंह (एडवोकेट) श्री बलवीर सिंह (एडवोकेट) जिसमें अभय कुमार सिंह सचिव तथा बलवीर सिंह एडवोकेट कार्यालय प्रभारी हैं | कोई भी व्यक्ति जो उक्त शक्ति पीठ से जुड़ना चाहता है तो उसे निम्न श्रेणी की सदस्यता लेनी होगी सिद्ध श्री हनुमत शक्ति पीठ रहनकला आगरा की सदस्य्ता संरक्षक सदस्य- ५ लाख रुपये एक मुश्त दान देकर शाकाहारी जो शराबी मांसाहारी न हो सदस्य बन सकता हैं साधारण सदस्य- ३ लाख ५० हजार रुपये एक मुश्त में देकर साधारण सदस्य बन सकते हैं साधक सदस्य- एक लाख एक मुश्त अथवा ११००० सालाना १० वर्ष तक देकर साधक सदस्य बन सकते हैं उपासक सदस्य- ५१ हजार एक मुश्त देकर सदस्य बन सकते हैं ऐसे सभी सदस्य उक्त साधना केंद्र में कभी भी आ सकते हैं, साधना कर सकते हैं इन सभी को उपसना में दीक्षा दी जाएगी श्रद्धालु श्रंखला सदस्य- मात्र १०१ रूपये देकर व अन्य श्रद्धालु जोड़कर श्रद्धालु श्रंखला विकास कार्यक्रम से जुड़ें | सदस्य एक निश्चित दिन गुरु महाराज जो अपनी समस्या निवारण के लिए मिल सकते हैं तथा अपने निराकरण उपाय के मार्गदर्शन प्राप्त कर सकते हैं श्रद्धालु श्रंखला विकास कार्यक्रम से जुड़कर उपहार तीर्थ यात्रा तथा जीवन भर निःशुल्क भोजन आवास प्राप्त कर सकते हैं रिटायर्ड व्यक्ति- जो व्यक्ति रिटायरमेंट के बाद अपना जीवन भजन पूजन कीर्तन में शांति पूर्ण ढंग से बिताना चाहते हैं वे एक निश्चित धनराशि जमकर जीवन भर आवास भोजन निःशुल्क प्राप्त कर सकते हैं

कलयुग के सरकार हनुमान जी भगवन राम ने कलयुग के भार दिया है अतः दीन दुखी जानो वृद्धों, महिलाओं युवाओं बच्चों को इनकी भक्ति श्रद्धालु श्रंखला को जोड़कर उनके कष्ट दूर करने का यह अद्भुत प्रयास किया है आपको श्रंखलाबद्ध कार्य करने पर आध्यात्मिक धार्मिक उपहार अथवा आर्थिक उपहार जीविका प्राप्त होगी | धार्मिक आध्यात्मिक उपहार निम्न हैं १-तीसरे ग्रुप के (श्रंखला) के पूरे होने पर प्रथम को पंचमुखी हनुमान जी की मूर्ती तथा धारण करने वाला कवच प्राप्त होगा | सिद्ध कवच की दक्षिणा मूल्य २१०० रूपये है जो ३ लाख ६० हजार आहुतियों से सिद्ध किया गया है | २-अपने ग्रुप जो आपने आरम्भ किया हैं उसकी चतुर्थ श्रंखला पार करने पर आप पायेगे सिद्ध हनुमत शक्ति पीठ से प्रारम्भ होने वाली ब्रजधाम यात्रा का एक व्यक्ति का यात्रा व्यय आवास व भोजन की व्यवस्था तीन दिन तक मथुरा वृन्दावन गोबर्धन आवास दर्शन व भोजन | ३-अपने ग्रुप की छठी श्रंखला पूर्ण होने पर आपको २ व्यक्तिओं को ५ दिवसीय ब्रज यात्रा वृन्दावन, मथुरा, गोवर्धन, नंदगांव, बरसाना, दाऊ जी के दर्शन, भोजन आवास व यात्रा व्यय | ४-अपने ग्रुप की ८ वीं श्रंखला पूर्ण होने पर २ धाम यात्रा ट्रैन के रिजर्व डिब्बे से स्लीपर क्लास में आवास भोजन सहित पति-पत्नी के लिए | ५- १० वीं श्रंखला पूर्ण होने पर आप पायेगे की हनुमत शक्ति पीठ धाम में जीवन भर भोजन आवास व्यवस्था पूरी तरह निःशुल्क | यह प्राप्त न करने पर जीवन भर एक निश्चित धनराशि, जीवन यापन भत्ता एक युगल हेतु बीच-बीच में सिद्ध श्री हनुमत शक्ति पीठ रहनकला यमुना तट पर बने श्री हनुमत कृपा धाम में विभिन्न यज्ञ धार्मिक आयोजनों में शामिल होने का अवसर भोजन आवास मुफ्त सब प्राप्त कर सकते हैं जिसकी आपको चाह है आइये श्रद्धालु श्रंखला विकास कार्यक्रम से जुड़कर अपने जीवन को आध्यात्मिक जगत के निःशुल्क दर्शन करिये | विभिन्न तीर्थ यात्रा शीघ्र नियमानुसार अभाव ग्रस्त जीवन में निःशुल्क आवास, भोजन, भजन में रमे श्रंखला बनाते जाएँ तथा सुख साधन पाएं | भक्ति की शक्ति का चमत्कार पाएं |

पर्व-उत्सव

सिद्ध श्री हनुमत शक्ति पीठ पर ५ उत्सव मनाये जाते हैं श्रद्धालु जनो को कष्ट-निवारण हेतु इन उत्सवों में सम्मिलित होना चाहिए

  1. हनुमान जयंती (जन्म दिन)
  2. गुरु पूर्णिमा
  3. दशहरा विजय दशमी
  4. दीपावली
  5. होली

इन दिनों रात्रि में १२ बजे से श्री पंचमुखी हनुमान जी एवं एकमुखी हनुमान जी का पूजन किया जाता है

निःशुल्क भोजन सेवा

ट्रस्ट के द्वारा अशक्त एवं बृद्ध जनों के लिए जो पीठ पर आने में असमर्थ हैं तथा जिनका नाम पीठ में दर्ज कराया है साधन की उपलब्धता के आधार पर उन्हें निःशुल्क घर बैठे दोनों समय लांच और डिनर घर पर पहुचने की योजना है | श्रद्धालु समाज सेवी धर्म प्रेमी जन एक अशक्त बृद्ध जन के लिए एक दिन का भोजन उपलब्ध कराने हेतु १०१ रुपये दान दे सकते हैं महीने के लिए ३००० और एक वर्ष के लिए ३६००० रूपये दान दे सकते हैं |

अधिक जल्दी हो तो हनुमत कृपा मूर्ति महाराज गुरु जी आशीर्वाद प्राप्त करें सभी रजिस्ट्रेशन शुल्क (दान) ओम श्री हनुमत शक्ति पीठ ट्रस्ट (रजि.) आगरा के नाम बैंक ऑफ़ बड़ोदा की किसी भी शहर की शाखा में A/C No. 40790100001184 में जमा कराएं तथा 08979518122 पर SMS करें | अपना नाम जमा की गयी धनराशि व तिथि व शहर का नाम अपना मोबाइल न. भेजें | आपका फार्म प्राप्त होते ही आपके मोबाइल पर एक रजि. न. आपको प्राप्त होगा | यही आपका क्रमांक होगा तभी जाने कि आपकी धनराशि पहुँच गयी है |