Pooja Vidhi

सिद्ध श्री हनुमत शक्ति पीठ में पंचमुखी हनुमान जी एवं एक मुखी हनुमान जी की पूजाए पंचमुखी हनुमत कवच एवं एकमुखी हनुमत कवच के मन्त्रों से की जाती है पूजा का काल प्रातः ४ बजे से लेकर ६ बजे सूर्योदय से पूर्व तथा रात्रि में आरती ८ बजे से ९ बजे के मध्य होती है | श्रद्धालुओं के विशेष कष्ट निवारण जैसे पितृ दोष ९ ग्रहों के उत्पीड़न भूत.प्रेत आदि की पीड़ा को दूर करने के लिए हवन यज्ञ रात्रि १२ बजे प्रातः ४ बजे के मध्य होता है जिसे श्रद्धालुए पीड़ित व्यक्ति स्वयं अपने हाथों से गुरु जी के निर्देशन में संपन्न करते हैं इन क्रियाओं के लिए गुरु जी कोई दक्षिणा या कोई पैसा नहीं लेते हैं कोई भी व्यक्ति जो मांस मदिरा का सेवन न करता हो वह अपने आपको पूजा में शामिल होने हेतु उपस्थित हो सकता है |

विशेष पूजा को छोड़कर किसी व्यक्ति कोई सामिग्री लेन की बाध्यता नहीं है नाही कोई पैसा चढाने की आवश्यकता है कोई भी व्यक्ति दीक्षा लेकर प्रयोगात्मकएक्रियात्मक साधना कर सकता है उसे पूर्ण ब्रह्मचर्य से रहना होगा तथा मांस मदिरा छोड़ना होगा इस पीठ में किसी भी तरह के दुर्गुण छुपाकर कोई परीक्षा लेने न आये पूजा में केवल शाकाहारी तिल जौ चावलए और जड़ीबूटियों की की सामिग्री गाय का घी केसर चन्दन देशी घी के लड्डू जो संख्या में एक भी हो सकता है २ कपूर अगरबत्ती अपनी श्रद्धानुसार ला सकते हैं एकमुखी हनुमान जी पर चोला चढाने के लिए पहले से मंगलवार अथवा शनिवार की तिथि निश्चित करनी होगी

चोला प्रातः सूर्योदय से पूर्व ही चढ़ाया जायेगा, इसके लिए पहले से तिथि की स्वीकृति लेना अनिवार्य है उत्सव एवं पर्व सिद्ध श्री हनुमत शक्ति पीठ में वर्ष में पांच पर्व मनाये जाते हैं

  1. हनुमान जयंती (जन्म दिन)
  2. गुरु पूर्णिमा
  3. दशहरा विजय दशमी
  4. दीपावली
  5. होली

इन दिनों रात्रि में १२ बजे से श्री पंचमुखी हनुमान जी एवं एकमुखी हनुमान जी का पूजन किया जाता है